meesho ने बंद की अपने किराना की सेवा| 300 से ज्यादा बेरोजगार

मीशो ने अपने ग्रोसर कम्पनी को रिब्रांड करके सुपरस्टार {meesho superstar} नाम से लॉन्च किया, खबरों की माने तो कम्पनी को superstar से घाटा लगने पर कम्पनी इस बंद करने का फेसला लिया, meesho कम्पनी भारत की एक ecommerce कम्पनी है जो की सस्ते दामो पर समन देती है इससे आप प्रोडक्ट्स को किसी को भी बेच सकते है और अपने बेचे गए product पर पैसे भी कम सकते है

meesho की superstar ब्रांड भारत में 300 से ज्यादा लोग काम करते थे जिनकी नोकरी चली गई है, अपने कर्मचारियों की नोकरी जाने और कम्पनी को बंद करने के बारे में अभी तक meesho ने कोई भी जानकारी नही दी है

छ राज्यों में meesho ने superstar की सर्विस शुरू की थी

meesho ने अप्रेल में ग्रोसरी का नाम बदल कर superstar रखा था जिसे की छ राज्यों में शुरू किया गया था जिनमे महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और गुजरात शामिल है और कम्पनी को इन सभी राज्यों में से कोई अछा रिस्पोंसनही मिल जिस के बाद कम्पनी ने इस सर्विस को अब सिर्फ कुछ शहरो में ही चालू रखने का फेसला किया है , meesho ओर किराना सेवा superstar की तरफ से अभी तक कोई भी रिस्पोंस नही दिया है

grocry
meesho ने बंद की अपने किराना की सेवा

कोई बयान नही जारी हुआ अभी तक superstar के बंद होने के बाद

meesho की बात करे तो अभी तक superstar पर कोई भी जानकारी meesho ने नही जारी की है meesho ने अप्रेल में ही अपने किराना व्यापार ग्रोसरी का नाम बदल कर superstar रखा था जो जी किराना स्टोर चलाता था लेकिन एकोमेर्स कम्पनी meesho ने इसे अभ बंद करे का फेसला लिया है, जिससे की कई लोगो की नोकरी भी जाने वाली है, कम्पनी ने superstar के बंद होने के बारे में कोई भी जानकरी नही दी है और खबरों की माने तो superstar में काम करने वाले सभी कर्मचारी को meesho दो महीने के सैलरी देगी जिससे की उनकी मदद की जा सके |

सभी कर्मचारियों को नोकरी से निकला

superstar कम्पनी के शुरू होने से पहले ही कम्पनी नुकसान में जा रही थी जिसे ध्यान में रख कर meesho ने अप्रेल में ग्रोसरी कंपनी के150 से अधिक कर्मचारियों को ट्रिगर किया, जिनमें से अधिकांश एक फार्मेसी से थे, क्योंकि इसका उद्देश्य मुख्य मंच के भीतर अपने खाद्य व्यवसाय को एकीकृत करना है। इससे पहले, सोशल कॉमर्स प्लेटफॉर्म ने क्राउन महामारी की पहली लहर के दौरान भी 200 से अधिक कर्मचारियों को काट दिया था।